आबकारी विभाग पर रेड कार्यवाही के दौरान लगा चोरी का आरोप कलेक्टर एसपी से समक्ष जाँच व कार्यवाही की मांग

अन्य

 

प्रतिनिधी – लकेशवर  बघेल

चाहे ओवर रेट का मामला हो या अवैध कोचीयो को मदिरा सप्लाई सहित पूर्व मे आबकारी निरीक्षक के ऊपर उसके ही कर्मचारी ने प्रताड़ना का आरोप लगाया है, और अब चोरी का आरोप लग रहा है जिन कारणों से विभाग हमेशा विवादों मे बना रहता है
शिकायतकर्ता क्षेत्रीय जनपद प्रतिनिधि होने के नाते क्षेत्र में स्वच्छ,सक्रिय छवि के रूप में जाना जाता है साथ ही किसी में मामले में पुलिस रिकार्ड भी नहीं है बावजूद आबकारी विभाग द्वारा बिना किसी ठोस आधार के घर में दबीश देने से क्षेत्रवाशियों में तरह तरह की बातें चर्चा का विषय बना हुआ है | इन सब कारणों से शिकायतकर्ता व घर परिवार मानहानि का अनुभव करते शर्मिंदा महसूस कर रहे है | चुकि रेड कार्यवाही में किसी भी प्रकार की मदिरा भी नहीं पाया गया है बल्कि मेहनत से कमाया गया पैसा भी चला गया जिस वजह से शिकायतकर्ता गहरी शोक में डूबा हुआ है
शिकायतकर्ता ने अपने आवेदन मे घटना का जिक्र करते हुए लिखा है कि सत्यनारायण चेलक पिता जगजीवन चेलक ग्राम खैरी, पोस्ट खैदा, बलौदाबाजार, जिला बलौदाबाजार-भाटापारा (छ.ग.) का निवासी हूँ वर्तमान में मेरी पत्नी श्रीमती प्रमिला चेलक जनपद क्षेत्र कमांक 13 का जनपद सदस्य है तथा मै उनका जनपद प्रतिनिधी हूँ। दिनांक 17.11.2022 को मै काम से बलौदाबाजार आया हुआ था घर मे मेरी पत्नी श्रीमती प्रमिला चेलक और दो बच्चे घर में रूके हुये थे, शाम करीब 4.00 बजे दो चार पहिया वाहन गाड़ियों में मेरे घर में बारी-बारी बिना अनुमति एवं बिना तलाशी वारंट के घर में प्रवेश किये, जो कि मेरे घर में लगे सी.सी.टी.वी. कैमरा में कैद हो गया हैं उनमें से विपिन पाठक सहायक उपनिरीक्षक आबकारी, जले सिंग सहायक उपनिरीक्षक आबकारी एक महिला आरक्षक आबकारी एवं गोरे लाल नवरंगे उर्फ भुरूवा निवासी अछोली को जानता पहचानता हूँ इनके अतिरिक्त बाहरी अन्य व्यक्ति भी थे जो लोग गमच्छा बांधकर चेहरा को ढके हुए थे। घर के अंदर घुसकर शराब रखने की बात कहकर पुरे घर की तलाशी लिये, उक्त घटना को मेरी पत्नी के द्वारा देखने पर मना किया कि मेरे पति घर में नहीं उनके आने तक इंतजार किजिए। किन्तु उक्त लोगों के द्वारा इंतजार नहीं किये और मेरे पत्नी के बात को नहीं माने तब मेरी पत्नी ने मुझे फोन करके घटना के बारे मे बतायी तब मैने अपने बहनोई हरिशंकर गेंडरे को घर जाने के लिए भेजा उनके उपस्थिति में विपिन पाठक एवं जलेसिंग के द्वारा साले सतनामी लोग कभी नहीं सुधरेगें। साले निज जाति के लोग कहकर जातिगत रूप से माँ बहन की गाली गलौच देने लगे तब मेरी पत्नी एवं बहनोई के द्वारा मना करने पर उनके साथ भी बत्तमिजी पूर्वक दुव्यवहार करने लगे।

आबकारी पुलिस के अधिकारियों ने मेरे शयन कक्ष के बैड में बने दराज में रखे 52,500/- बावन हजार पांच सौ रूपये को तलाशी करते समय चोरी से ले आये है। पैसा के चक्कर में जल्दबाजी में आबाकारी पुलिस वालों ने अपनी टोपी को घर में ही छोड़ कर आ गये है।

आबकारी विभाग के अधिकारी एवं स्टाफ के द्वारा अनुसूचित जाति जनप्रतिनिधि के घर मे रेड कार्यवाही कर उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है जबकि राज्य के कांग्रेस सरकार जनता को शराब बंदी जैसे धोखे मे रख कर सरकार मे आयी है नौकरशाह को इतना छूट दे रखी है कि किसी भी घर मे घुसकर आलमारी से लगभग 52हज़ार 5सौ ₹ ले जाना नौकरशाह को तानाशाही का परिचय देना प्रतीत होता है हम भाजपा पार्टी इस रवैये का कड़ी निंदा करते है। आज कांग्रेस सरकार के द्वारा नौकरशाह से काका हुजूरी के आलावा कुछ नहीं कराया जा रहा है।
डॉ.सनम जांगड़े
पूर्व विधायक एवं भाजपा जिला अध्यक्ष
जिला बलौदाबाजार भाटापारा।

कार्यवाही मे दबिश के दौरान प्रतिकिया मे अपशब्द निकल जाती है बाकि ऐसा कुछ नही है।
विकास गोस्वामी
सहायक आयुक्त आबकारी विभाग
जिला बलोदा बाजार भाटापारा

आप सभी मीडिया के द्वारा इस प्रकार की शिकायत संज्ञान मे आयी है इस पर जिला आबकारी अधिकारी को बोलके निष्पक्ष जांच करायी जाएगी।
रजत बंसल
कलेक्टर
जिला बलौदाबाजार भाटापारा।